जय श्री बाला जी सालासर । सभी भगतों से अनुरोद है की जो भी इस वेबसाइट को विजिट कर रहा है वो हमारा फेसबुक पेज जरूर लाइक करे ताकि हम लोग आगे भी आपसे जुड़े रहे । धन्यवाद । जय श्री राम ।

श्री बालाजी मंदिर ( सालासर धाम ) के सभी भक्तों का हार्दिक अभिनंदन |

श्री सालासर बालाजी मंदिर (चूरू,राजस्थान) पुजारी प्रबंध कमेटी की ओर से (बालाजी महाराज) की Live आरती एवं दैनिक Live दर्शन आधिकारिक फेसबुक & इंस्टाग्राम पर प्रसारित होती है |

वर्तमान आरती समय :
मंगला आरती – 5:45 AM
राजभोग आरती(मंगलवार) – 10:00 AM
संध्या आरती – 7:30 PM
शयन आरती – 9:30 PM

वर्तमान ऑनलाइन LIVE दर्शन समय :
प्रातःदर्शन लाइव
6:15 AM से 8:00 AM
भोग पश्चात दर्शन लाइव
10:30 AM से 12:00 AM
संध्या दर्शन लाइव
6:15 PM से 7 PM

 

श्री बालाजी सालासर धाम

समरुधरा राजस्थान के चूरू जिले में स्थित है राम के प्रिय भक्त और ज्ञानियों में अग्रगण्य महाबली हनुमान (बालाजी महाराज) का सिद्ध मंदिर( सालासर बालाजी धाम )सालासर बालाजी के नाम से प्रसिद्ध इस मंदिर की स्थापना संत मोहनदास जी महाराज ने विक्रम संवत 1811 में श्रावण शुक्ल नवमी को की थी। मोहनदासजी भक्ति से प्रसन्न होकर हनुमानजी आसोटा में मूर्ति रूप में प्रकट हुए और अपने भक्त की मनोकामना पूर्ण की। तत्पश्चात मूर्ति की सालासर में प्राण प्रतिष्ठा हुई। संवत 1811 (सन 1754) से ही मंदिर परिसर में जहां मोहनदास जी का धूना था, अखंड ज्योति जल रही है।
मंदिर परिसर में ही मोहनदास जी की समाधि है। बहन कान्हीबाई के पुत्र और अपने शिष्य उदयराम को मंदिर की जिम्मेदारी सौंपकर वैशाख शुक्ल त्रयोदशी को मोहनदास जी ने जीवित समाधि ली थी। यहां वह बैलगाड़ी भी है, जिससे हनुमानजी की मूर्ति आसोटा से लाई गई थी। शेखावाटी की सुजानगढ़ में तहसील में स्थित यह मंदिर हनुमान भक्तों की आस्था का केन्द्र है। यहां दूर-दूर से श्रद्धानलु अपनी मनोकामनाएं लेकर आते हैं। यहां मनोकामना की पूर्ति के लिए नारियल बांधे जाते हैं.
gallery17
पंडित जी :- नितिन पुजारी जी महाराज

मंगलवार व्रत की कथा

हनुमान जी के मंगलवार व्रत की कथा

पंचमुखी अवतार

हनुमान जी का पंचमुखी अवतार

श्री बालाजी सालासर धाम के बारे में

सालासर बालाजी भगवान हनुमान के भक्तों के लिए एक धार्मिक स्थल है।

You have successfully subscribed to the newsletter

There was an error while trying to send your request. Please try again.

balajisalasar will use the information you provide on this form to be in touch with you and to provide updates and marketing.